समाचार

बीएचयू ट्रॉमा सेंटर में सोनभद्र हत्याकांड के पीड़ितों से मिलीं प्रियंका गांधी

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा शुक्रवार को वाराणसी के बीएचयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचीं और उत्तर प्रदेश के सोनभद्र में जमीन विवाद में घायल हुए लोगों का हालचाल जाना. दरअसल, बुधवार को उत्तर प्रदेश के सोनभद्र के मूर्तिया गांव में जमीन विवाद को लेकर 10 लोगों की हत्या कर दी गई थी. इसमें 28 लोग घायल भी हो गए थे.

बताया जा रहा है कि मूर्तिया गांव के बाहरी इलाके में सैकड़ों बीघा खेत है, जिस पर कुछ ग्रामीण पुश्तैनी तौर पर खेती करते आ रहे हैं. ग्रामीणों के मुताबिक इस जमीन का एक बड़ा हिस्सा ग्राम प्रधान यज्ञदत्त के नाम है. ग्राम प्रधान ने एक आईएएस अधिकारी से 100 बीघा जमीन खरीदी थी. जब बुधवार सुबह 11 बजे ग्राम प्रधान यज्ञदत्त गुर्जर ने इस जमीन पर कब्जे करने के लिए करीब 200 लोगों और 32 ट्रैक्टरों के साथ पहुंचे और जमीन जोतने की कोशिश की, तो विवाद हो गया.

इन घायलों का बीएचयू टॉमा सेंटर में इलाज चल रहा है. इन्हीं घायलों का हालचाल जानने के लिए प्रियंका गांंधी बीएचयू ट्रॉमा सेंटर पहुंचीं. इसके बाद जब वो पीड़ितों का हालचाल जानने के बाद सोनभद्र की ओर रवाना हुईं, तो उनको बीच रास्ते में ही रोक लिया गया. प्रियंका गांधी सोनभद्र हत्याकांड को लेकर उत्तर प्रदेश की योगी आदित्यनाथ सरकार पर जमकर निशाना साधा चुकी हैं.

प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया था कि बीजेपी राज में अपराधियों के हौसले इतने बढ़ गए हैं कि दिन-दहाड़े हत्याओं का दौर जारी है. सोनभद्र के उम्भा गांव में भू-माफियाओं ने 3 महिलाओं सहित 9 गोंड आदिवासियों की सरेआम हत्या ने दिल दहला दिया. प्रशासन-प्रदेश मुखिया-मंत्री सब सो रहे हैं. क्या ऐसे बनेगा अपराध मुक्त प्रदेश? इसके अलावा गुरुवार को कंग्रेस नेता अजय कुमार लल्लू ने पीड़ित परिवारों से मुलाकात की.

download

https://aajtak.intoday.in/story/sonbhadra-murder-live-updates-priyanka-gandhi-to-reach-varanasi-1-1102875.html

यूपी में बढ़ते अपराध को लेकर प्रियंका का हमला, लिखा-’हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फारसी क्या’

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने लगातार बढ़ रहे अपराध को लेकर यूपी सरकार पर निशाना साधा। उन्होंने बुधवार को आरोप लगाया कि उत्तर प्रदेश में अपराधियों की करतूतें चरम पर हैं, जबकि योगी सरकार इससे जुड़े सवालों पर झूठे जवाब दे रही है।
मुजफ्फरनगर की एक घटना पर अमर उजाला की खबर का हवाला देते हुए प्रियंका गांधी ने ट्वीट किया। लिखा कि उप्र सरकार के नेता प्रदेश में लगातार बढ़ते अपराध पर मेरे ट्वीट का कुछ भी झूठ मूठ जवाब दे दें, मगर पुरानी कहावत है ‘हाथ कंगन को आरसी क्या, पढ़े लिखे को फ़ारसी क्या’।

उन्होंने लिखा कि ‘उत्तर प्रदेश में अपराधियों की करतूतें चरम पर हैं, और जनता पूछ रही है कि ऐसा क्यों?’ बता दें कि मुजफ्फरनगर में मंगलवार को कोर्ट में पेशी के दौरान बदमाशों ने दरोगा को गोली मारी और कुख्यात अपराधी को पुलिस हिरासत से छुड़ा ले गए थे।

images

‘अच्छे दिन’ के नाम पर किसानों, मजदूरों, नौजवानों को बीजेपी ने दिया धोखा: राज बब्बर

कांग्रेस की उत्तर प्रदेश इकाई के अध्यक्ष राज बब्बर ने बुधवार को भारतीय जनता पार्टी (बीजेपी) पर जमकर निशाना साधा और कहा कि बीजेपी ने ‘अच्छे दिन’ के नाम पर गरीबों, किसानों, मजदूरों और नौजवानों को धोखा देने का काम किया है। राज बब्बर ने एक चुनावी जनसभा में कहा, ‘गांव, गरीब, किसान, मजदूर सभी आज परेशान हैं। महंगाई से लोग कराह रहे हैं। बीजेपी ने झूठ की बुनियाद पर सत्ता तो हासिल कर ली, लेकिन अच्छे दिन के नाम पर गरीबों, किसानों, मजदूरों, नौजवानों और बेरोजगारों को धोखा दिया है।’ उन्होंने कहा, ‘अब समय आ गया है, जब लोग बीजेपी के एक-एक धोखे का हिसाब मांग रहे हैं। बीजेपी सरकार ने जनता के अधिकारों का हनन कर बड़े-बड़े उद्योगपतियों के जेब भरे, उसका हिसाब करने के लिए जनता तैयार है और इसका फैसला भी 23 मई को आ जाएगा।’ ..

download

https://navbharattimes.indiatimes.com/elections/lok-sabha-elections/news/raj-babbar-attacked-on-bjps-acche-din-in-gorakhpur/articleshow/69239281.cms

धर्म और जाति-पात की बात करने वालों के भड़कावे में न आये जनता: प्रियंका

कांग्रेस महासचिव प्रियंका गांधी वाड्रा ने किसी पार्टी का नाम लिये बिना कहा कि लोगों को धर्म और जाति-पात की बात करने वालों के भड़कावे में नही आना चाहिये।
वाड्रा शनिवार दोपहर साढ़े बारह बजे कानपुर के अहिरवां एयरपोर्ट पर विशेष विमान से उतरने के बाद फतेहपुर के औंग में आयोजित जनसभा स्थल पर पहुंची। यहां पर सबसे पहले उन्होंने महिला संवादी कार्यक्रम में भाग लिया। उन्होंने कहा कि धर्म और जाति पात की बात करने वालोें से जनता को सावधान रहने की जरूरत है।

कांग्रेस महासचिव ने कहा कि धर्म और जाति पात की बात करने वालों के भड़काने में न आये। आप पहले पार्टियों में अंतर समझिए। समझिये की आपकी भलाई किसमें है। धर्म और जाति पात के नाम पर लड़ने से देश पिछड़ जायेगा। इसमें सबका बिगाड़ होता है। सबका हक सभी को मिलना चाहिए तभी सब आगे बढ़ेंगे। उन्होंने कहा कि अपनी सूझबूझ से आप अपना वोट डालने जाएं। कांग्रेस ने हर गरीब महिला के खाते में 72 हजार रुपये भेजने की बात की है। कांग्रेस का साथ दीजिए और फालतू बोलने वालों से कहिए अपना रास्ता नापो।

इससे पहले कांग्रेस की महासचिव प्रियंका वाड्रा का विशेष विमान दोपहर 12:25 पर कानपुर के अहिरवां एयरपोर्ट पर पहुंची। कानपुर सीट से कांग्रेस प्रत्याशी पूर्व केंद्रीय मंत्री श्रीप्रकाश जायसवाल, अकबरपुर सीट से प्रत्याशी राजाराम पाल, कांग्रेस जिलाध्यक्ष हरप्रकाश अग्निहोत्री, नगर ग्रामीण अध्यक्ष संजीव दरियाबादी, देहात अध्यक्ष नीतम सचान ने श्रीमती वाड्रा से मुलाकात की।

priyanka_gandhi

https://www.sabguru.com/priyanka-gandhi-calls-people-id-not-get-angry-about-talk-of-religion-and-caste/

जिन्हें भारत की विविधता स्वीकार नहीं, उन्हें आज देशभक्त बताया जा रहा है: सोनिया गांधी

कांग्रेस की पूर्व अध्यक्ष सोनिया गांधी ने मोदी सरकार पर जोरदार हमला किया है। अब तक चुनाव प्रचार से दूर रहीं सोनिया गांधी ने पार्टी के एक कार्यक्रम में मोदी सरकार पर संस्थाओं को खत्म करने का आरोप लगाया। उन्होंने यह भी कहा कि कांग्रेस पार्टी सत्ता में आती है तो संविधान की मूल भावना को बहाल किया जाएगा। उन्होंने कहा कि इस समय देशभक्ति की नई परिभाषा सिखाई जा रही है और विचारधारा के आधार पर अपने ही नागरिकों से भेदभाव हो रहा है।
कांग्रेस के ‘जन सरोकार 2019′ कार्यक्रम में सोनिया गांधी ने कहा, ‘कुछ साल पहले हम यह सोच भी नहीं सकते थे कि हमें ऐसे हालात में यहां इकट्ठा होना पड़ेगा। पिछले कुछ समय से हमारे देश की मूल आत्मा को एक सोची समझी साजिश करके जिस तरह कुचला जा रहा है वह हम सभी के लिए बेहद चिंता की बात है। जिन संस्थाओं ने हमें बुलंदियों तक पहुंचाया उन सभी को करीब-करीब खत्म कर दिया गया है। 65 साल में बड़ी मेहनत से तैयार जन कल्याण के बुनियादी ढांचे और समावेशी ताने-बाने को खत्म करने में इस सरकार ने कोई कसर बाकी नहीं रखी है।’
उन्होंने कहा, ‘आज हमें देशभक्ति की नई परिभाषा सिखाई जा रही है, विविधता को अस्वीकार करने वालों को देशभक्त बताया जा रहा है, जबकि धर्म और विचारधारा के आधार पर अपने ही नागरिकों से भेदभाव को उचित ठहराया जा रहा है। हमसे उम्मीद की जा रही है कि खान-पान, पहनावे, भाषा और अभिव्यक्ति की आजादी के मामले में कुछ लोगों की मनमानी हम बर्दाश्त करें। वर्तमान सरकार असहमति का सम्मान करने को राजी नहीं है। जब अपनी आस्था पर टिके रहने की वजह से लोगों पर हमले होते हैं तो सरकार क्या करती है। सरकार अपना मुंह फेर लेती है। कानून का राज लागू करने का अपना बुनियादी फर्ज पूरा करने को सरकार तैयार नहीं है…

sg

https://navbharattimes.indiatimes.com/india/those-who-do-not-accept-diversity-are-being-called-patriots-today-says-sonia-gandhi/articleshow/68752497.cms