सियासी दलों से नहीं, जनता से गठबंधन करेगी कांग्रेस: अजय कुमार लल्लू

उत्तर प्रदेश में कमजोर कांग्रेस को मजबूत करने की बागडोर अजय कुमार लल्लू को प्रदेशाध्यक्ष बनाकर दी गई है। नई जिम्मेदारी संभालने के बाद वह लगातार सक्रिय भी दिख रहे हैं। प्रदेश के हर ज्वलंत मुद्दे को लेकर मौके पर पहुंच रहे हैं और सरकार को घेरने के लिए आवाज बुलंद कर रहे हैं। शनिवार को उपचुनाव के प्रचार के लिए इगलास में रहे और मेरठ में भी कार्यकर्ताओं से बात की और कांग्रेस को खड़ा करने के लिए संघर्ष करने का जोश भरा। इस दौरान अजय कुमार लल्लू से शादाब रिजवी ने बात की-
सवाल- यूपी में बेहद कमजोर हो चुकी कांग्रेस को बतौर प्रदेशाध्यक्ष कैसे मजबूती देंगे?
जवाब- कांग्रेस कमजोर नहीं हैं, एकजुट करने की जरूरत है। उसके लिए गांव-गांव गली-गली कार्यकर्ता दस्तक देंगे। उनको कांग्रेस के शासन और गैर-कांग्रेसी सरकारों के शासन के काम में फर्क को समझाकर आगे की नीति बताकर फिर जोश भर खड़ा किया जाएगा। आने वाला वक्त कांग्रेस का है।

सवाल- जिलों में दिखने वाले गिनती के कांग्रेसियों के बल पर आपका जनाधार जुटाने का दावा धरातल पर आसानी से आ पाएगा?
जवाब- हम 2022 की तैयारी कर रहे हैं। जिला स्तर पर स्थानीय परेशानियों को एकत्र करा रहे हैं। उनको लेकर जनता के बीच जल्द जाएंगे। युवा, किसान, मजदूर, महिला, कारोबारी, व्यापारी को जोड़कर जनाधार को वापस लेकर रहेंगे। परेशान जनता कांग्रेस की तरफ उम्मीद के साथ देख रही है।

सवाल- प्रदेश कार्यकारिणी घोषित होने के बाद सेल और विभाग की इकाइयों का गठन नहीं हुआ, कई जिलों में जिलाध्यक्षों के नाम अटके हुए हैं?
जवाब- ऐसा बिल्कुल नहीं हैं। हम बहुल जल्द प्रदेश के हर सेल और विभाग की इकाई में जुझारू और निष्ठावान लोगों को शामिल कर उसकी घोषणा करेंगे। रही बात जिलाध्यक्षों की, 51 का ऐलान हो चुका है। बाकी का किसी भी दिन कर दिया जाएगा।

सवाल- यूपी की योगी आदित्यनाथ सरकार कानून व्यवस्था को अपनी बड़ी कामयाबी बताती है, कांग्रेस को उनके दावे में कितना दम दिखता है?
जवाब- छोड़िए, अपने मुंह मियां मिट्ठू बनने वाला दावा है। कानून व्यवस्था ध्वस्त है। जंगलराज है। कमलेश तिवारी की राजधानी में हत्या, मेरठ में वकील का मर्डर, बहन बेटियों के बलात्कार, बीजेपी के सांसद विधायक रेप में शामिल, फर्जी एनकाउंटर इसके सबूत हैं। ये सब सरकार के मुंह पर तमाचा है।

सवाल-यूपी में सरकार के विकास के दावे पर कांग्रेस का रुख क्या है?
जवाब- विकास के सारे दावे भी झूठे हैं। मेरठ का कैंची, हथकरधा, खेल, सहारनपुर का लकड़ी उद्योग, मुरादाबाद का ब्रास उद्योग बुरे हाल में हैं। मजदूर पलायन कर नेपाल जाने को मजबूर हैं। गैर कांग्रेसी सरकारों ने यूपी को विकास नहीं विनाश किया।

सवाल- 11 विधानसभा सीटों पर 21 को होने वाले उपचुनाव में कांग्रेस खुद को कितनी मजबूत मान रही है?
जवाब- कांग्रेस मेहनत कर रही है। उनके कैंडिडेट मुख्य मुकाबले में हैं। कई सीटें जीतेंगे। एसपी-बीएसपी जनाधारविहीन हो गई हैं। बीजेपी से जनता उकता गई है। हर मोर्चे पर विफल मुख्यमंत्री सिर्फ प्रचार मंत्री बने हैं। जनता को ठगने वाले सीएम को वोट मांगने का हक नहीं है।

सवाल- उपचुनावों से प्रियंका गांधी समेत बड़े चेहरे प्रचार से दूरी बनाए हैं, इसकी वजह?
जवाब- ये सच नहीं है। मैं प्रदेशाध्यक्ष हूं, प्रचार में जुटा हूं। हमारे सीएम भूपेश बघेल और पीएल पूनिया प्रचार कर रहे हैं। यूपी के सभी नेता जी-जान एक किए हैं।

सवाल- यूपी में जगह-जगह हो रहे किसानों के आंदोलन पर कांग्रेस की क्या राय है?
जवाब- बीजेपी किसान विरोधी है। जुमलेबाज पार्टी है। उनके किसानों की जमीन कौड़ियों के भाव लेकर पूंजीपतियों को दी जा रही हैं। गन्ना भुगतान नहीं हो रहा। मिल समय से चल नहीं पा रही। खुद गन्ना मंत्री के क्षेत्र की मिलपर 250 करोड़ रुपये किसानों का बकाया है।

सवाल- बीजेपी को उखाड़ फेकने की आप बात कर रहे हैं, इसके लिए क्या गैरबीजेपी दल गठबंधन की राह चलेंगे?
जवाब- कांग्रेस आगे कभी किसी दल से गठबंधन नहीं करेगी। कांग्रेस का गठबंधन सिर्फ और सिर्फ जनता से होगा। कांग्रेस रचनात्मक लड़ाई लड़ेगी। जल्द तीस साल पुराने वाली दमदार कांग्रेस यूपी में दिखेगी।

सवाल- कांग्रेस का आने वाले वक्त में क्या प्लान है?
जवाब- कांग्रेस का चरणबद्ध जनआंदोलन का खाका तैयार है। जल्द यात्राएं, धरने प्रदर्शन करेंगे। जनता के लिए संघर्ष करेंगे। सरकार के जनविरोधी कामों के खिलाफ आवाज बुंलद कर हिसाब मांगेंगे। हम उन्नाव सोनभद्र कांड, बिजली की बढ़ी दरें, पेट्रोल डीजल और खाद्य पदार्थों की महंगाई के मुद्दे को लेकर सरकार को घेर चुके हैं। हर कांग्रेसी तिरंगा लेकर सड़क पर हक की जंग करते दिखेगा।

AKL

https://navbharattimes.indiatimes.com/metro/lucknow/politics/congress-up-president-ajay-kumar-lallu-says-party-will-not-form-alliance-with-any-party/articleshow/71662715.cms